उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक अक्सर बीजेपी पर नर्म और दूसरे दलों पर सख्त नज़र आते है। क्योंकि पिछले दिनों जब पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का बंगला खाली कराया गया तो उन्होंने बंगले में हुए नुकसान के बारे पूर्व मुख्यमंत्री की आलोचना की थी। मगर अब जब प्रदेश में बच्चियों को लेकर दुष्कर्मो पर वो चुप्पी साधे हुए है।

समाजवादी पार्टी नेता प्रीती चौबे ने सोशल मीडिया पर लिखा कोई भाई उत्तरप्रदेश के महामहिम राज्यपाल को जगा दो। टोटी गायब होने पे चिठियां लिख रहे थे, देवरिया मे 18 बच्चियां गायब है अभी सो रहे है! जागो महामहिम!

गौरतलब हो कि देवरिया जिले के मां विन्ध्यवासिनी महिला प्रशिक्षण एवं सामाजिक सेवा संस्थान की एक लड़की जब आज सुबह जब किसी तरह भागकर थाने पहुंची तो उसकी आपबीती सुनकर सभी चौंक गए। महिला थाने पहुंच कर लड़की ने अपनी आपबीती सुनाई।

iI

बच्ची ने पुलिस को बताया कि वहां (शेल्टर होम में) उनसे नौकरों की तरह बर्ताव किया जाता है। बच्ची ने आगे बताया कि शेल्टर होम में गाड़ियां आती थी और 15 साल से बड़ी लड़कियों को अपने साथ जबरन ले जाती थीं। ये लड़कियां अगले दिन रोते हुए वापस लौटती थी।