बैलेट पेपर से चुनाव का 70 % पार्टियों ने किया समर्थन, चुवाव आयोग के सामने बीजेपी पड़ी अलग-थलग |

0

नई दिल्ली:  कांग्रेस ने सोमवार को कहा कि देश में मतपत्र से चुनाव की व्यवस्था की ओर फिर से लौटने और चुनावी खर्च को सीमित करने की उसकी मांग का 70 फीसदी राजनीतिक दलों ने समर्थन किया है. कांग्रेस यह भी दावा किया कि ईवीएम से चुनाव जारी रखने की पैरवी कर रही बीजेपी और उसके कुछ सहयोगी दल सोमवार को चुनाव आयोग द्वारा बुलाई गई बैठक में इन दोनों मुद्दों पर अलग-थलग पड़ गए थे. 

चुनाव आयोग द्वारा बुलाई गई सर्वदलीय बैठक के बाद कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने बताया कि पार्टी ने आयोग से यह भी कहा कि अगर मतपत्र से चुनाव कराना संभव नहीं हो तो विकल्प के तौर पर ईवीएम के साथ लगे वीवीपैट में कम से कम 30 फीसदी की जांच कराई जाए ताकि देश में स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित हो सके.

‘हमने मतपत्र के जरिए चुनाव कराने की मांग की’
सिंघवी ने कहा,‘आज की बैठक में हमने चुनाव को फिर से मतपत्र के जरिए कराने की मांग की. हमने यह भी कहा कि अगर यह संभव नहीं हो रहा है तो विकल्प के तौर पर कम से कम 30 फीसदी वीवीपैट की पर्चियों का मिलान कराया जाए ताकि स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित हो सके.’

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा,‘हमारी इन दोनों मांगों का 70 फीसदी राजनीतिक दलों ने समर्थन किया. इसमें बीजेपी एवं उसके कुछ सहयोगी दल अलग-थलग पड़ गए थे.’  सिंघवी ने कहा कि मतदाता सूचियों में गड़बड़ी को दुरुस्त करने, महिला आरक्षण, दिव्यांगों को सुविधाएं और चुनावी बांड के मामले पर कांग्रेस ने अपना पक्ष रखा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here